Zindagi Ka Safar Lyrics

zindgi ka safar hai ye kaisa safar

Jindgi kaa safar song is written by Indiver and sung by Kishore kumar for bollywood movie Safar (1970).

सफर मूवी में सुपर स्टार राजेश खन्ना को कैंसर बीमारी से जूझता हुआ दिखाया गया है. परन्तु वो अपनी जिंदगी के आखिरी पलो को ख़ुशी- ख़ुशी बिताते है. मूवी में अमिताभ बचन ने भी बहुत अच्छा किरदार निभाया है. इस गाने की एक-एक पंक्ति आप को जिंदगी की हकीकत को बयां करेगी. जीवन के दो पहलू है सुख और दुःख और दोनों को अपननाना ही जिंदगी की हकीकत है.

 

ज़िन्दगी का सफ़र Lyrics in Hindi

जिन्दगी का सफ़र, है ये कैसा सफ़र

कोई समझा नहीं, कोई जाना नहीं

है ये कैसी डगर, चलते हैं सब मगर

कोई समझा नहीं, कोई जाना नहीं

 

जिन्दगी को बहुत प्यार हमने दिया

मौत से भी मोहब्बत निभायेंगे हम

रोते-रोते जमाने में आये मगर

हंसते-हंसते जमाने से जायेंगे हम

जायेंगे पर किधर, है किसे ये खबर

कोई समझा नहीं…

 

ऐसे जीवन भी हैं, जो जिए ही नहीं

जिनको जीने से पहले ही मौत आ गयी

फूल ऐसे भी हैं, जो खिले ही नहीं

जिनको खिलने से पहले खिजा खा गयी

है परेशां नजर, थक गए चार अगर

कोई समझा नहीं…

 

Zindagi Ka Safar Lyrics in English

 

Zindagi Ka Safar Hai Ye Kaisa Safar

Koyi Samjha Nahin Koyi Jaana Nahin

Hai Ye Kaisi Dagar Chalte Hain Sab Magar

Koyi Samjha Nahin Koyi Jaana Nahin

 

Zindagi Ko Bahut Pyaar Hamne Kiya

Maut Se Bhi Mohabbat Nibhaaenge Ham

Rote Rote Zamaane Mein Aaye Magar

Hanste Hanste Zamaane Se Jaaenge Ham

Jaaenge Par Kidhar Hai Kise Ye Khabar

Koyi Samjha Nahin Koyi Jaana Nahin

 

Aise Jeevan Bhi Hain Jo Jiye Hi Nahin

Jinko Jeene Se Pehle Hi Maut Aa Gayi

Phool Aise Bhi Hain Jo Khile Hi Nahin

Jinko Khilne Se Pehle Fiza Kha Gai

Hai Pareshaan Nazar Thak Gaye Chaaraagar

Koyi Samjha Nahin Koyi Jaana Nahin

 

Comments

comments